शिव का नटराज स्वरूप क्या है, नटराज के पैरो के निचे कौन है।

इस सम्पूर्ण सृष्टि में भगवान शिव के कई रूप विधमान हैं, जिनमें से एक रूप नटराज का हैं। जिसके बारे में यह कहा जाता है कि …

शिव रुद्राष्टकम स्त्रोत्र का पाठ तुरंत फल प्रदान करने वाला होता है।

रुद्राष्टकम स्त्रोत्र को रामचरित मानस से लिया गया है जो गोस्वामी तुलसीदास जी द्वारा रचित है यदि कोई भी साधक ज्यादा कुछ …

निष्काम कर्मयोग क्या है, इसके रहस्य को कैसे समझे?

निष्काम कर्मयोग के मार्ग पर चलने वाला वयक्ति ही अपनी समस्त इच्छाओं और आकांक्षाओं को परमात्मा को समर्पित कर देता है। जिस…

पिप्पलाद ऋषि ने क्यों किया था शनिदेव पर प्रहार?

शनिदेव को ज्योतिष शास्त्र में एक क्रूर गृह की संज्ञा दी गई है, सभी मानव क्या यहाँ तक सभी देवता भी शनिदेव की वक्र दृष्टि…

अहोई अष्टमी व्रत की कथा और उसका महत्व क्या है?

अहोई अष्टमी का व्रत करवा चौथ के ठीक 4 दिन बाद आता है इस दिन महिलाएं अपने बच्चों की लंबी उम्र के लिए अहोई अष्टमी व्रत रख…

माँ दुर्गा के नौ रूपों की पूजा और विधान का वर्णन करें।

माँ दुर्गा के नौ रूपों की पूजा और विधान का वर्णन, भारतीय सनातन परंपरा में माँ दुर्गा को शक्ति की देवी मानकर उनके विभिन्…

ज़्यादा पोस्ट लोड करें कोई परिणाम नहीं मिला