हनुमान जी के 12 नामों का पाठ प्रतिदिन करने से माँ लक्ष्मी प्रसन्न होती है जिससे वयक्ति धनवान बनता है। हनुमान जी को संकटमोचन कहा जाता है, जो हर प्रकार संकट का हरण करने में सक्षम है। इसलिए जब भी कोई व्यक्ति मुसीबत में होता है तो वह बजरंगबली को सबसे पहले याद करता है। शास्त्रों के अनुसार हनुमान जी ही एकमात्र ऐसे देवता हैं जो आज भी धरती पर मौजूद हैं। आनंदरामायण में बजरंगबली के 12 नामों से उनकी स्तुति करने का उल्लेख किया गया है। जो भी व्यक्ति हनुमान जी के इन 12 नाम द्वारा उनकी स्तुति करता है उसके सभी प्रकार के कष्ट दूर हो जाते हैं। हनुमान जी के इन 12 नामों की स्तुति करने से कष्टों से मुक्ति के साथ ही शनि के प्रकोप से मुक्ति मिलती है। 


हनुमान जी के 12 नामों का पाठ


श्री हनुमान जी के 12 चमत्कारी नाम



हर मंगलवार या प्रतिदिन करें हनुमान जी के इन 12 नामों का पाठ


1. ॐ श्री हनुमते नमः

अर्थ:- भक्त हनुमान, जिनकी हनु अर्थात ठोड़ी में दरार है।


2. ॐ अञ्जनी सुताय नमः

अर्थ:- देवी अंजनी के पुत्र


3. ॐ वायुपुत्राय नमः

अर्थ:- पवनदेव के पुत्र


4. ॐ महाबलाय नमः

अर्थ:- जो बहुत बलवान हो


5. ॐ रामेष्ठाय नमः

अर्थ:- भगवान श्रीराम के प्रिय


6. ॐ फाल्गुण सखाय नमः

अर्थ:- अर्जुन के मित्र



7. ॐ पिंगाक्षाय नमः

अर्थ:- लाल या सुनहरी आंखों वाले


8. ॐ अमितविक्रमाय नमः

अर्थ:- जो अथाह या असीम वीरता का मालिक हो


9. ॐ उदधिक्रमणाय नमः

अर्थ:- एक छलांग में समुद्र पार करने वाले


10. ॐ सीताशोकविनाशनाय नमः

अर्थ:- माता सीता का दुख दूर करने वाले


11. ॐ लक्ष्मणप्राणदात्रे नमः

अर्थ:- लक्ष्मण के प्राण वापस लाने वाले


12. ॐ दशग्रीवस्य दर्पाय नमः

अर्थ:- दस सिर वाले रावण के घमंड का नाश करने वाला



हनुमानजी के 12 नाम वाली स्तुति मंत्र 


हनुमानञ्जनीसूनुर्वायुपुत्रो महाबल:। रामेष्ट: फाल्गुनसख: पिङ्गाक्षोऽमितविक्रम:।।

उदधिक्रमणश्चैव सीताशोकविनाशन:। लक्ष्मणप्राणदाता च दशग्रीवस्य दर्पहा।।


एवं द्वादश नामानि कपीन्द्रस्य महात्मन:। स्वापकाले प्रबोधे च यात्राकाले च य: पठेत्।।

तस्य सर्वभयं नास्ति रणे च विजयी भेवत्। राजद्वारे गह्वरे च भयं नास्ति कदाचन।।


******


हनुमानजी के 12 नामों द्वारा स्तुति करने से होंगे यह फायदे:-


1.) नित्य नियम के साथ हनुमान जी के 12 नामों की स्तुति से इष्ट की प्राप्ति होती है।


2.) प्रात: काल उठ कर उसी अवस्था में हनुमान जी के बारह नामों को 11 बार लेने से व्यक्ति दीर्घायु होता है।


3.) दोपहर के समय हनुमान जी के 12 नामों की स्तुति व्यक्ति को धनवान बनाती है। 


4.) संध्या के समय हनुमान जी के 12 नामों की स्तुति व्यक्ति को पारिवारिक सुखों से तृप्त करती है।


5.) रात्रि को सोते समय हनुमान जी के 12 नामों की स्तुति से व्यक्ति अपने शत्रु पर विजय प्राप्त करता है।



6.) मंगलवार के दिन नये लाल स्याही के पेन से भोजपत्र पर हनुमान जी के बारह नाम लिखकर उसका ताबीज बांधने से कभी भी सिर का दर्द नहीं होता। यह ताबीज गले या बाजू में बांधा जाये ज्यादा उत्तम है। 


7.) उपर दिये समय के अतिरिक्त भी यदि कोई वयक्ति हनुमान जी इन बारह नामों का निरंतर जप करता है तो श्री हनुमानजी दसों दिशाओं एवं आकाश पाताल से उसकी रक्षा करते हैं।



हनुमान जी के 12 नामों को PDF में डाउनलोड करें


 


सम्बंधित जानकारियाँ 

Post a Comment

Plz do not enter any spam link in the comment box.

और नया पुराने