Constipation: Aurvedic Home Made Remedies

आयुर्वेद हमारी मानव सभ्यता को Nature की एक अनुपम धरोहर है। आयुर्वेद चिकित्सा को World की Oldest चिकित्सा विज्ञान के रूप मे माना जाता है। संस्कृत में, Ayurveda का अर्थ है "जीवन का विज्ञान।" आयुर्वेदिक ज्ञान की उत्पत्ति 5,000 साल से अधिक समय पहले हुई थी और इसीलिये इसे "Mother of all Healing" कहा जाता है। 

कब्ज (Constipation) क्या है 


आज के Scenario मे जैसे-जैसे हमारे Lifestyle और रहन सहन के तरीकों मे Change आ रहा है, उसके द्वारा हम सब कई प्रकार की Problems को Face कर रहे है। ये Problems अधिकतर Physical और Mental Level पर ज्यादा होती है। इसी मे एक आम समस्या है, वो है Constipation जो सभी उम्र के लोगों को प्रभावित करती है। इस पर किये हुऐ एक सर्वेक्षण में पता चला कि भारत में लगभग 22%  Adult Populations इस बीमारी से पीड़ित है।

हालांकि, आम तौर पर लोग इस Problem के बारे में बात करने से कतराते हैं। Constipation कोई एक दिन मे होने वाली समस्या नहीं है, यह हमारे Daily Routine पर पड़ने वाले प्रभाव, Fast Changing Lifestyle, शारारिक और मानसिक थकावट और ऐसे बहुत से कारण है जो इस प्रकार की कई Problems को जन्म देती है, अगर Timely इनका Treatment ना किया जाये तो ये एक गंभीर समस्या का रूप ले लेती है।   

आयुर्वेद के अनुसार Constipation का कारण 


आयुर्वेद के Perspective से Constipation को एक "वात विकार" या "वात दोष" के रूप में देखा जाता है, क्योंकि वात Movement और Elimination को नियंत्रित करता है। इसलिए, जो कुछ भी इस दोष को बढ़ाता है - जैसे तनाव, यात्रा, निर्जलीकरण(Dehydration), थकावट, Irregular Lifestyle, Untimely भोजन खाना, Physical Activity कम करना, उम्र बढ़ना, Regular Medicine का Use या अत्यधिक Junk Food का सेवन करना या ठंडा भोजन करना ऐसे कई Reasons है जो Constipation की समस्या को पैदा करते है। 


Constipation से पीड़ित लोगों को Body मे फूला हुआ महसूस होता है, पेट में गड़बड़ी, पेट का फूलना, सिरदर्द, Acidity होना और अपर्याप्त नींद आना ऐसी कई अस्थाई Problems आती है। हालांकि जुलाब(Laxatives) इस Temporary समस्या को Resolve करने का प्रभावी Solution हैं, जिसे हम कई प्रकार की Ayurvedic Medicine को आजमाकर इसका Treatment प्रभावी रूप से कर सकते है।  

क्योंकि आयुर्वेद ही इस Problem को Treat करने का सबसे अच्छा Solution है। Ayurvedic Home Remedies न केवल आपको इस Problem से Fast Relief दिलाने में मदद करती है, बल्कि यह पूर्ण रूप से Body के लिये Safe भी होती है, इनका कोई Side effect नहीं होता, यह प्राकृतिक रूप से Digestion की क्रिया को भी साफ करती है।

हम सभी ये जानते है कि Fiber Rich Food, बहुत सारे Liquid Items और Physical Activity के साथ इस स्थिति को बेहतर बनाया जा सकता है, हमे स्वाभाविक रूप से अधिक Salad खाने की कोशिश करनी चाहिए। परन्तु कुछ कच्ची सब्जियां ठंडी और खुरदरी होती हैं - इनमें दो गुण ऐसे होते हैं जो असंतुलित रहते हैं - इसलिए केवल Unripe Vegetables जैसे गाजर और ब्रोकोली को अपनी Diet मे शामिल करने से काम नहीं चलता है।

क्योकि Constipation सभी वात अतिरिक्त अवस्थाओं की तरह गर्म, नम, Medium Oily , Protein Rich Food Items के साथ प्रतिक्रिया करता है। Vegetables Soups, Casserole कैसरोल, पकी हुई Squash और नम रूट सब्जियां जैसे शलजम और यम इस समस्या को हल करने में मदद करती है।

Constipation को Natural तरीके से Treat करने के लिए कुछ आयुर्वेदिक उपाय दिए गए हैं:

वात दोष नाशक Food Items का प्रयोग करें


Constipation को रोकने के लिये एक सर्वोत्तम तरीका यह है की हम वात संतुलित आहार का प्रयोग करे। ठंडे Food Items  और Drinks, सूखे फल, Oily Foods से दूर रहें। अनुकूल गर्म Food Items, Warm Drinking Items और अच्छी तरह से पकी हुई सब्जियाँ का अधिक प्रयोग करना चाहिये।


त्रिफला सबसे Useful Remedy 


आयुर्वेद मे Constipation का सबसे भरोसेमंद और सबसे प्रभावी Treatment में से एक है Terminalia chebula या Triphala है, जो एक फल है जो Constipation को ठीक करने में मदद करता है। आप Triphala को चाय के साथ ले सकते हैं या गर्म पानी के साथ ले सकते है। इसे और अधिक प्रभावी बनाने के लिये Triphala का एक-चौथाई चम्मच, आधा चम्मच धनिया के बीज और एक चौथाई चम्मच इलायची के बीज को लेकर उन्हें पीस कर Mixture बनाले और दिन में दो बार लें। Triphala में Glycoside होता है जिसमें जुलाब(Laxatives) के गुण होते हैं, जो Stomach को Clean करता है और इलायची और धनिया के बीज पेट फूलने और Digestion मे राहत दिलाने में मदद करते हैं।

Warm Milk और Ghee मिलाकर पिये 


रात को सोते समय एक कप Warm Milk में एक या दो चम्मच Ghee मिलाकर लेना Constipation से राहत देने का एक प्रभावी और सौम्य तरीका है। यह मुख्य रूप से वात और पित्त के लिए सबसे अच्छा होता है।

बेल फल का गूदा (Pulp)


Daily रात के खाने से पहले शाम को Half Cup बेल का गूदा (Pulp) और एक चम्मच गुड़ खाने से भी Constipation को दूर करने में काफी मदद मिलती है। इसमें आप इमली का पानी और गुड़ मिला कर बेल का शर्बत बनाकर भी ले सकते हैं।

Constipation: Aurvedic Home Made Remedies

Liquorice Root का प्रयोग 


एक चम्मच Liquorice Root का चूर्ण लें। इसमें आप एक चम्मच गुड़ को मिलाकर इसे एक कप गर्म पानी के साथ पिएं। Liquorice या मुलेठी को आपकी आंत्र गतिविधि (Bowel Activity) को बढ़ावा देने के लिए जाना जाता है। परन्तु आपको यह सलाह दी जाती है कि आप इसे Continuity मे लेने से पहले किसी आयुर्वेदिक Specialist से सलाह अवश्य लें।



भुनी हुई सौंफ (Roasted Fennel) का प्रयोग 


एक गिलास Warm Water के साथ रात को सोते समय लिया गया Roasted Fennel का एक चम्मच Light  Laxatives (हल्के जुलाब) के रूप में कार्य कर सकता है। सौंफ़ के बीजों में पाए जाने वाले Volatile Oil गैस्ट्रिक एंजाइम के उत्पादन को बढ़ावा देकर Digestion को शुरू करने में मदद करता हैं।

अंजीर (Anjeer) का प्रयोग 


Anjeer का प्रयोग Constipation मे काफी लाभदायक होता है। अंजीर को गर्म पानी में भिगो कर लेने से कब्ज का Treatment करने में बहुत मदद करता है, विशेष रूप से बच्चों के लिये यह काफी फायदेमंद होता है। High Fiber Rich होने के कारण अंजीर को सबसे अधिक Useful माना जाता है। अपने Digestion को ठीक रखने के लिए आप Daily अंजीर को ले सकते हैं।

अरंडी (Castor Oil) का तेल 


अरंडी का तेल एक लोकप्रिय Natural Treatment है जो एक Laxatives (जुलाब) के रूप में काम करता है, और Constipation से राहत देता है। कब्ज के लिए, खाली पेट 1 या 2 चम्मच अरंडी का तेल (Castor Oil) लेने की Advice की जाती है, इसे आप सोते समय तब तक ले सकते है जब तक आपको पूरी राहत नहीं मिलती।

Future में Constipation से बचने के लिए कुछ Useful Tips 

  • Daily Morning मे चार या पांच गिलास से ज्यादा हल्का Warm Water पिएं। अगर आप चाहे तो Herbal Tea जैसे Green Tea, Chamomile Tea भी पी सकते हैं, यह सब आपके Digestion System को बढ़ावा देने में मदद करती हैं।
  • प्रतिदिन अधिक से अधिक Fiber Rich आहार लें।
  • At-least 30 मिनट के लिये Daily Exercise  जरूर करे ये सब आपके Digestion को Kick-Start करने में काफी मदद करता है।
  • हमेशा मौसमी फल और सब्जियां को जरूर खाएं।
  • Oily Food और Junk Food का प्रयोग कम से कम करे 

अंत मे निष्कर्ष 


जीवन शैली को संतुलित रखना ही सभी Problems का एक मात्र हल हो सकता है। जिस तरह आज कल का जीवन काफी Fast हो गया है, इससे Constipation और ऐसी अनेको बीमारी हमारे जीवन को प्रभावित कर रही है, अगर हम अपने जीवन को संतुलित करे और ऊपर दिये हुऐ कुछ Key Points को ध्यान में रखे तो Constipation और ऐसी दूसरी बीमारियों को अलविदा कहा जा सकता है। इसके अलावा अगर समस्या गंभीर हो जाये तो किसी योग्य Doctor से Consult जरूर करे। 

   

 

Post a Comment

Plz do not enter any spam link in the comment box.

और नया पुराने