Web Search Engine Kya Hai

Web Search Engine क्या है, यह कैसे Work करता है? 

आज का युग Technology का है, जिसने हमारे जीवन को एक रफ़्तार प्रदान की है। जीवन की इसी रफ़्तार को बनाये रखने के लिये हमे Information की आवश्यकता होती है। Human Mind अपनी सीमित Capacity के साथ ही Information को Store कर सकता है। इन्ही असीमित Information को Store करने के लिये एक ऐसे Device या Application की जरुरत थी जो आवश्यकता के अनुसार तुरंत उसे Available करा सके और कही पर भी बिना किसी रूकावट के।     

Web Search Engine क्या है? 


Search Engine के लिए सर्वप्रथम विचार 1945 में शुरू हुआ था। एक महान विचारक Vannevar Bush ने अपने एक Article "As We May Think" के द्वारा भविष्य में Information की Importance पर काफी जोर दिया और वैज्ञानिकों के लिए Magazines और Books में मिली जानकारी को किसी Device  मे Store करने का तरीका डिजाइन करने की आवश्यकता पर अपने विचार दिया। 

उन्होंने अपने Article मे Memex नामक एक Memory Device का निर्माण करने सुझाव दिया, जिसका Use Information को Compress करने और Store करने के लिए किया गया जिससे Information को फिर Speed और Flexibility के साथ प्राप्त किया जा सकता था। पहली बार अच्छी तरह से Well Documented Search Engine जिसने Content Files की खोज की, अर्थात् FTP Files , Archie थी, जो की 10 सितंबर 1990 को शुरू हुई थी। 

      

Internet पर Information को Search के लिए Use किया जाने वाला पहला Device "Archie" था, जिसे Archive नाम मे बिना "v" के Design किया गया था। इसे Canada के Montreal, Quebec में McGill University में Computer Science के छात्रों, Alan Emtage, Bill Heelan और J ने Design किया था। पहले Available "All Text" Crawler आधारित Search Engine में से एक Webcrawler था, जो 1994 में सामने आया। 

जिसने पहले के पूर्ववर्तियों के विपरीत, अपने उपयोगकर्ताओं को किसी भी Webpage में किसी भी शब्द की खोज करने की Facility प्रदान की, जो तब से अब तक सभी प्रमुख Search Engines के लिए Standard बन गया है। यह एक ऐसा Search Engine था जिसे जनता द्वारा व्यापक रूप से जाना जाता था। इसके अलावा 1994 में, Lycos जो Carnegie Mellon University में शुरू हुआ, Launch किया गया था और जो एक प्रमुख Commercially Use का साधन बन गया।

Web पर पहला लोकप्रिय Search Engine Yahoo था, जिसे 1994 में Jerry Yang और David Filo ने स्थापित किया था। Yahoo का पहला Product, Yahoo नामक एक Web Directory थी, जिसे 1995 में, एक Search Function से जोड़ा गया, जिससे उपयोगकर्ता Yahoo पर Topics को Search कर सके। 

यह लोगों के लिए एक सबसे लोकप्रिय तरीकों में से एक बन गया है, जो Web Pages को Complete Text के बजाय अपनी Search को एक Web Directory के रूप मे दिखाने लगा। इसके तुरंत बाद, कई Search Engine दिखाई दिए और जो काफी लोकप्रिय भी थे। इनमें Magellan, Excite, Infoseek, Inktomi, Northern Light और AltaVista शामिल थे। 

Web Search Engine Kya Hai
Google ने goto.com नाम की एक छोटी Search Engine कंपनी से 1998 में Search Terms को Commercially Use करने पर विचार किया। इस कदम से Search Engine व्यवसाय पर एक महत्वपूर्ण प्रभाव पड़ा, जो Internet के सबसे Profitable Business बन गया। 2000 के आसपास, Google का Search Engine प्रमुखता से उभरा। 


Company ने Page Rank के नाम से एक Algorithm को स्थापित किया, जैसा कि Google के बाद के संस्थापकों Sergey Brin और Larry Page द्वारा लिखे गए Search Engine के Anatomy के पेपर में समझाया गया था, जिसने काफी बेहतर परिणाम दिये। Google ने अपने Search Engine में एक न्यूनतम Interface भी बनाए रखा, जिससे वास्तव में, Google Search Engine इतना लोकप्रिय हो गया कि एक Mystery Seeker जैसे Shine करने लगा।

Search Engine कैसे Approach करता है। 


एक Search Engine वास्तविक समय में निम्नलिखित प्रक्रियाओं के अनुसार कार्य को करता है।

1. Web crawling
2. Indexing
3. Searching

Web Search Engine किसी भी जानकारी को Web Site से Different Sites पर जाकर Crawl करके प्राप्त करता हैं। जहां Spider उन सभी Standard Files के नाम को जो Robots.txt के रूप मे होती है उसकी जांच करता है, तथा सभी Robots.txt File की खोज करके Spider को निर्देशित करता है, जिसके बाद Spiders खोज के परिणाम को Index कर देता है, ये सभी सूचनाये कई कारकों मे, जैसे Title, Page Content, JavaScript, Cascading Style Sheets, Headings या उसके Metadeta के आधार पर Indexing होने के लिए वापस भेजी जाती है। 

यहाँ Indexing का अर्थ है Web Pages पर पाए जाने वाले Words और अन्य निश्चित टोकन को उनके Domain Name और HTML आधारित फ़ील्ड से जोड़ना है। जहा उन्हे जोड़कर एक सार्वजनिक डेटाबेस के रूप में Prepare किया जाता है, जो Web Pages के रूप मे आपके सभी प्रश्नों के लिए Answer उपलब्ध कराता है। 

हम इस Process को Four Steps मे समझ सकते है 


Step 1 (Search) :- Search Engine सबसे पहले आपके द्वारा Type Keywords को समझता है की आप क्या चाहते हो फिर उसमे कुछ समानार्थक शब्दों (Synonyms) को उसमे Add करता है, जिन्हे "tastiest treats" कहते है और ये सब आपके Typing शुरू करने से लेकर खत्म होने तक के बिच मे होता है। उसके बाद Search Engine अपने Algorithms (Mathematical Formulas) का Use करता है की वास्तव मे आप क्या Search कर रहे हो।



Step 2 (Sort) :- यहाँ आपके Type किये हुऐ Words को समझकर Search Engine के Srever को भेजी जाती है, जहाँ पर दुनिया की तमाम जानकारी जैसे Words, Video, Songs, Photos और ऐसी बहुत सी जानकारी जो World Wide Web पर बिखरी होती है जो लगातार Collect और Updated होती रहती है "Spiders" के द्वारा उन्हे Crawl करके सही In-formations को चुना जाता है।

Step 3 (Collect) :- अब Search Engine उन सभी Index के रूप मे प्राप्त जानकारी को आपके Type किये हुऐ शब्दों से Match करता है, फिर उन सभी जानकारियों को जो हजारो की संख्या मे होती है उनको Filter करता है जो की Page मे लिखे Content उसकी Publishing Date, उस पर कितने लोगो ने Visit किया है, उसकी Reliability और ऐसे ही कई मापदंडो पर परखकर उस Data को Collect करता है।

Step 3 (Voila!) :- अब अंत मे Collect की हुई सभी जानकारी Search Engine द्वारा Decided Values के द्वारा आपके Web Page पर Links के रूप मे दिखाई देती है। जहा से आप उन Links के द्वारा अपनी जानकारी को प्राप्त कर लेते है।

Web Search Engine Kya Hai

World Wide Web का दायरा 


Google के अनुसार World Wide Web का Size कम से कम 5.58 Billion Pages का है, जिसमे More Than 60 Trillion Index है, जो किसी Human के Brain मे उपस्थित Neuron से भी ज्यादा होता है।


Google के अतिरिक्त Most Trusted Search Engine 

  • Bing 
  • Yandex
  • CC Search
  • Swisscows
  • DuckDuckGo
  • StartPage
  • Search Encrypt
  • Gibiru
  • OneSearch
  • Wiki.com
  • Boardreader
  • GiveWater
  • Ekoru
  • Ecosia
  • Twitter
  • SlideShare
  • Internet Archive  

अंत मे निष्कर्ष 


Search Engine जो एक प्रकार से Super Brains की तरह काम करता है जो आपके शब्दों को समझ कर तुरंत उससे सम्बंधित सभी जानकारियों को उपलब्ध करा देता है। इसे साधारण भाषा मे समझे तो यह इस प्रकार है जैसे आप किसी Restaurant मे जाकर किसी Dish का नाम लेते है तो Waiter आपके सामने पूरा Menu Card रख देता है, जिसमे उस तरह की कई Dishes होती है और आप अपनी पसंद की चीज को चुन लेते है। 

  





Post a Comment

Plz do not enter any spam link in the comment box.

और नया पुराने